Tuesday, August 11, 2009

स्वाइन फ्लू

स्वाइन फ्लू बढ रहा है
मानसून घट रहा है
इलाज के नाम पर
मुह छुपाना चल रहा है
टेबलेट खाकर डर दूर हो जाता है
नैतिक शिक्षा में अब यही पढाया जाता है
बच्चे की मौत
भी अब टी. वी. पर चिलाने का सामान है
क्या करें टी.आर पी के चक्कर में
सारे के सारे नादान है
महंगाई बेवफाई कसाब
लोकतंत्र में चरचे बेहिसाब
विदेशी बालाओं का नाच
अब सिनेमा की जरुरत है
ग्लोबल वार्मिंग जारी है
देशी कोठों पर अब विदेशी नज़र आती है
देशी विदेशों में प्रीमियम कमाती है

18 comments:

अर्शिया अली said...

सावधानी ज़रूरी है.
{ Treasurer-T & S }

अंशुमाली रस्तोगी said...

यह मीडियाई स्वाइन फ्लू है। घबराने की जरूरत नहीं।

संगीता पुरी said...

सावधान रहना आवश्‍यक है .. पर घबडाने से समस्‍या घटती नहीं बढती है !!

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर और सामयिक बात कही आपने.

रामराम.

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत सुंदर और सामयिक बात कही आपने.

रामराम.

Babli said...

अत्यन्त सुंदर! हमें सावधानी से रहना होगा इस बीमारी से!
श्री कृष्ण जनमाष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें!

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

कब तक रहेगा यह?

BrijmohanShrivastava said...

टी आर पी वाली बात बिलकुल सही है

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

बड़े बड़े शहरों में ऐसा ही होता है.

RAJNISH PARIHAR said...

rachnaon se bachche ki tasveer mel nahin kha rahi!kiski pic. h ye?

क्रिएटिव मंच said...

बहुत जिम्मेदारी से लिखा है आपने
हमें सावधान रहना होगा इस बीमारी से !

-----------------------------------
सूचना :
कल सवेरे नौ बजे से पहली C.M. Quiz शुरू हो रही है.
आपसे आग्रह है कि उसमें भी शामिल होने की कृपा करें.
हमें ख़ुशी होगी.
-----------------------------------
क्रियेटिव मंच

क्रिएटिव मंच said...

सावधान रहना गलत नहीं है
लेकिन फिलहाल बढा-चढ़कर हौव्वा फैलाया जा रहा है


********************************
C.M. को प्रतीक्षा है - चैम्पियन की

प्रत्येक बुधवार
सुबह 9.00 बजे C.M. Quiz
********************************
क्रियेटिव मंच

ताऊ रामपुरिया said...

इष्टमित्रों और परिवार सहित आपको, दशहरे की घणी रामराम.

रामराम.

Murari Pareek said...

trp badhaane walon se saawdhani nitant awashyak hai!!!

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

अगली कविता किधर है मकरंद जी? बहुत व्यस्त लग रहे हैं आजकल.

Udan Tashtari said...

लिखते इतना बढ़िया हैं...फिर मामला रुका क्यूँ है??

Murari Pareek said...

वाह मकरंद !!! बिलकुल क्रेंट अफ्फैर्स के ऊपर सुन्दर कविता |

Murari Pareek said...

maine do baar comment kardiyaa hai!!! koi ni!!!